Nisha भाभी ki रंडी choot

...From : राजू … hi friends, में चोदन का नियमित पाठक हूँ और बहुत सी कहानियाँ पढ़ी है। उन स्टोरीयों को पढ़कर मुझको लगा कि में भी अपनी ए

पड़ोसन ki chudai ki रासलीला Antarvasna
नाजायज़ संबंध | Free Hindi Sex Stories Antarvasna
भाभी को चोदा रात ki बरसात में Antarvasna

From : राजू …

hi friends, में चोदन का नियमित पाठक हूँ और बहुत सी कहानियाँ पढ़ी है। उन स्टोरीयों को पढ़कर मुझको लगा कि में भी अपनी एक कहानी लिख दूँ, जो कि मेरी असली कहानी है। अब में पहले आप लोगों को अपने बारे में बताता हूँ। में 35 साल का हूँ और में झाँसी का रहने वाला हूँ, मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है, में शरीर से कुछ मोटा हूँ, लेकिन मेरा पेट बाहर नहीं है, मेरे लंड का साईज 6 इंच है और वो काफ़ी सख्त और मोटा है। अब में आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी सुनाता हूँ। में उन दिनों 11वीं क्लास में पढ़ता था और मेरे घर में मेरी एक किरायेदार रहती थी, जो कि उम्र में मुझसे बड़ी थी, लेकिन उसके कोई बच्चा नहीं था और वो बहुत सुंदर और sexy थी। मैंने अभी तक सेक्स नहीं किया था और ना ही मेरी कोई गर्लफ्रेंड थी, में हमेशा सोचता था कि मेरे पास भी कोई लड़ki हो और में uski chudai करूँ, लेकिन मुझको कोई मिलती नहीं थी।

अब मेरी नजर मेरी मकान में रहने वाली किरायेदार ki बीवी पर भी थी, लेकिन मेरी हिम्मत नहीं होती थी कि में उससे कैसे बात करूँ? मुझको पता नहीं था कि वो चालू है और खुद ही किसी से चुदवाने को तैयार है। में उसके बारे में सोचता था और कोशिश करता था कि उसको किसी तरह से नंगी या कपड़े बदलते देखूं, लेकिन मुझको मौका ही नहीं मिलता था। फिर एक बार उसका आदमी कहीं बाहर गया और उस दिन में भी घर में अकेला था। जब दोपहर का time था और काफ़ी गर्मी थी। अब में सिर्फ़ कच्छे में रूम में अकेला लेटा था। फिर तभी वो मेरे रूम में मेरे लिए लंच लेकर आई और बोली कि राजू तुम खाना खा लो, तुम्हारी माँ ने कहा था कि में तुमको खाना खिला दूँ और तुम्हारा ध्यान रखूं। अब मेरी तो हालत खराब हो गई थी, आज वो पहली बार मुझसे एकदम अकेले में मिल रही थी और उस time में कच्छे में था और मेरा लंड खड़ा था।

फिर मैंने uski तरफ देखा और हैरान हो गया, उसने ब्लाउज और पेटीकोट पहना था और मुझे uski चूचीयाँ साफ-साफ दिखाई दे रही थी, क्योंकि उसके ऊपर के दो हुक खुले थे। में उसको भाभी जी कहता था। फिर मैंने उससे कहा कि भाभी जी आपका ब्लाउज खुला है। तो तब उसने खाना मेरे बेड पर रखा और मेरे पास बैठते हुए बोली कि राजू तुम खाना खा लो, बड़ा मसालेदार है और अच्छा भी है और फिर उसने कहा कि मेरा तो ब्लाउज का हुक ही खुला है, लेकिन तुम्हारा तो टेंट तना है। तब में और शरमा गया और धीरे-धीरे खाना खाने लगा। अब जब में खाना खा रहा था, तो उस time वो कभी-कभी अपनी बड़ी-बड़ी चूचीयों को नीचे झुककर मुझको दिखा रही थी। अब मेरा खाना खाना मुश्किल हो रहा था।

फिर जैसे तैसे मैंने खाना खाया और हाथ धोने के बाद बेड के पास आया तो उस टाइम भाभी नीचे झुki थी और बर्तन उठा रही थी। फिर तब मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया। अब मेरा लंड uski Gaand पर लग रहा था। friends सच कहता हूँ जब मेरा लंड uski Gaand पर लगा तो वो और भी सख्त हो गया था। फिर वो मुझसे बोली कि राजू तुम बड़े बेसब्र हो, मुझको बर्तन तो रखने दो, में भी तुमसे मिलने को तैयार हूँ। फिर तब में बोला कि भाभी जी आपने तो मुझको खाना भी नहीं खाने दिया और अब कह रही हो में इंतजार करूँ, यह अच्छी बात नहीं है। फिर तब वो बोली कि राजू यह क्या भाभी-भाभी लगा रखा है? मुझको पकड़ रखा है तो मेरा नाम लेना, भाभी सुनकर तो ऐसा लगता है कि में अपने बेटे से बात कर रही हूँ। फिर तब में बोला कि अच्छा Nisha यह बात है और फिर मैंने उसके ब्लाउज के अंदर अपना एक हाथ डालकर uski बड़ी-बड़ी चूचीयाँ दबा दी। तब Nisha ने भी अपनी Gaand मेरे लंड ki तरफ और ज़ोर से दबा दी। friends ये कहानी आप चोदन पर पड़ रहे है।

अब मुझको ऐसा लग रहा था कि मेरा लंड uski Gaand में कपड़ो के ऊपर से ही चला जाएगा। फिर तब वो बोली कि राजू मुझको छोड़ और कपड़े उतारने दे। में तो काफ़ी दिनों से तुमसे चुदवाने को तरस रही हूँ, मैंने एक बार तेरा तगड़ा लंड देखा था, जब तू सो रहा था, आज बहुत दिनों के बाद मौका मिला है। फिर तभी मैंने उसको छोड़ दिया और उसने अपना पेटीकोट उतार दिया और अपने ब्लाउज के हुक खोलती हुई बोली कि राजू तू भी तो अपने कच्छे को खोल। फिर तब में भी झट से नंगा हो गया और अब वो भी पूरी नंगी हो गई थी और फिर मेरा लंड देखकर बोली कि हाए दैया मर जाऊं, क्या जबरदस्त लंड है तेरा? और फिर अचानक से उसने मेरे आगे बैठकर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और टॉफी ki तरह चूसने लगी थी। फिर यही कोई 2 मिनट में मेरा लंड उसके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा पानी पी गई थी। अब मेरा लंड अपने आप ही उसके मुँह में उचकने करने लग़ा था। फिर तब वो बोली कि वाउ राजू क्या जबरदस्त लंड है तेरा? मज़ा आ गया चूसकर, choot में तो और भी मज़ा आएगा।

फिर उसने मुझको बेड पर खींच लिया। अब में uski दोनों टाँगों के बीच में आ गया था। अब मेरा लंड फिर से पूरा तना हुआ था और uski choot पर रखकर एक धक्का लगाया, तो उसने भी अपनी choot का धक्का मारकर मेरे लंड को अपनी choot में लिया आआहह, दैया क्या लंड है? ऐसा मज़ा तो मुझको सील तुड़वाने में भी नहीं आया, हाए राजू बहुत मज़ा आ रहा है, राजू मुझको ज़ोर से चोद। तब में भी बोला कि आह Nisha मुझको भी बहुत मज़ा आ रहा है, बड़ी गर्म-गर्म choot है तुम्हारी, आआआअहह, ऊऊफफ्फ़ करते हुए में उसको चोदता रहा और फिर यही कोई 15 मिनट के बाद मेरा लंड झड़ गया और फिर हम दोनों ठंडे होकर मस्ती में एक दूसरे से लिपटकर लेटे रहे। फिर उस दिन मैंने Nisha ki 5 बार chudai ki। फिर उस रात को Nisha ने मुझसे कहा कि राजू मुझको तुझसे चुदवाने में बहुत मज़ा आ रहा है, तू मुझको रोजाना चोदा कर। फिर हमें आगे भी जब कभी भी कोई मौका मिला, तो हम दोनों ने खूब chudai ki और खूब मजा किया ।।

धन्यवाद …

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0